Tuesday, December 20, 2022

विश्व बैंक का अनुमान: वित्त वर्ष 2022-23 में GDP विकास दर गिरकर 6.9% रहने की उम्मीद

नई दिल्ली : बिगड़ते बाहरी वातावरण के बीच वित्त वर्ष 2022-23 में वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि में गिरावट की उम्मीद है। FY22-23 में GDP विकास दर घटकर 6.9% रहने की उम्मीद है। विश्व बैंक ने अपनी भारत विकास अद्यतन रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है।

इस अनुमान को 2021-22 के 8.4% के मुकाबले बड़ी गिरावट मानी जा रही है। वहीं इससे पहले स्विट्जरलैंड की ब्रोकरेज कंपनी यूबीएस इंडिया ने भी 2022-23 में भारत की जीडीपी विकास दर 6.9 फीसदी रहने का ही अनुमान लगाया था।

बढ़ती महंगाई के कारण जीडीपी पर पड़ रहा असर

बढ़ती महंगाई को नियंत्रण करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक समेत दुनिया भर के केंद्रीय बैंक लगातार अपनी ब्याज दरों में इजाफा कर रहे हैं। इसका सीधा असर देश की सकल घरेलू उत्पाद पर पड़ रहा है। इसके साथ ही चीन में कोरोना लॉकडाउन के कारण पूरी दुनिया के सप्लाई चेन पर बहुत बुरा असर पड़ा है. ऐसे में पूरी दुनिया में मंदी की आशंका बढ़ गई है।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news