Thursday, December 8, 2022

Womens Asia Cup T20 2022 : थाईलैंड पर बड़ी जीत, एशिया कप के फाइनल में भारत

Womens Asia Cup T20 2022 : आखिरकार वही हुआ जिसकी उम्मीद थी. भारतीय महिला क्रिकेट टीम एशिया कप के फाइनल में पहुंच गई है. सिलहट में खेले गए पहले सेमीफाइनल मैच में टीम इंडिया ने थाईलैंड को करारी मात दी. भारत की जीत की नायिका दीप्ति शर्मा बनीं, जिन्होंने कमाल की गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में महज 7 रन देकर 3 विकेट लिए. वहीं बल्ले से शेफाली वर्मा ने 28 गेंदों में 42 रन ठोक जीत में बड़ा योगदान दिया. कप्तान हरमनप्रीत ने भी 36 रनों की पारी खेली.

पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 148 रन बनाए. गेंदबाजों की मुफीद पिच पर भारतीय बल्लेबाजों को खुलकर खेलने में दिक्कत आईं. बाद में भारतीय गेंदबाजों ने भी इसका फायदा उठाया और थाईलैंड को सिर्फ 74 रनों पर रोक 74 रनों से जीत दर्ज की.

मांधना का विकेट जल्दी गिरा

बता दें भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही. स्मृति मांधना सिर्फ 13 रन बनाकर आउट हो गईं. इसके बाद जेमिमा रॉड्रिग्स ने विकेट पर खूंटा गाड़ा लेकिन वो तेजी से रन नहीं बना सकीं. उनके बल्ले से 26 गेंदों में 27 रन ही निकले. दूसरी ओर शेफाली वर्मा ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की. इस बल्लेबाज ने 5 चौके और एक छक्के की मदद से रन ठोके. साथ ही उनका स्ट्राइक रेट 150 रहा. हरमनप्रीत ने 30 गेंदों में 36 रन ठोके. वो अंतिम ओवरों में तेजी से बल्लेबाजी करने में नाकाम रहीं.

गेंदबाजों ने दिखाया जलवा

स्पिन फ्रेंडली विकेट पर भारतीय गेंदबाजों ने थाईलैंड पर कहर ढा दिया. पावरप्ले में दीप्ति शर्मा ने कमाल की गेंदबाजी की. दाएं हाथ की इस ऑफ स्पिनर ने 4 ओवर में महज 7 रन देकर 3 विकेट लिए. उनके साथ राजेश्वरी गायकवाड़ ने भी महज 10 रन देकर 2 विकेट लिए. रेणुका सिंह, स्नेह राणा ने भी थाईलैंड को खुलकर नहीं खेलने दिया. अंत में थाईलैंड की टीम 20 ओवर में 74 रन ही बना सकी और उनके 9 विकेट गिर गए.

7वीं बार एशिया कप जीतने का मौका

बता दें भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पास 7वीं बार एशिया का चैंपियन बनने का मौका है. भारत ने 2004, 2005, 2006, 2008, 2012 और 2016 में लगातार 6 एशिया कप जीते. इसके बाद 2018 में उसे बांग्लादेश ने फाइनल में मात दी. अब 2022 एशिया कप में टीम इंडिया एक बार फिर फाइनल में है और उसके पास 7वां खिताब जीतने का मौका है.

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news