Thursday, December 1, 2022

कब लगेगा आखिरी सूर्य ग्रहण और भारत में कहां और कैसा दिखेगा? जानिए

साल 2022 का दूसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) फेस्टिव सीजन के बीच पड़ने वाला है।

यह प्रमुख हिंदू त्यौहार दिवाली (Diwali) के अगले ठीक अगले रोज 25 अक्टूबर, 2022 को लगेगा। यह लगभग आधे घंटे तक रहेगा और आशंकि सूर्य ग्रहण (Partial Solar Eclipse) होगा।

यह यूरोप, उत्तर पूर्वी अफ्रीका और पश्चिमी एशिया के विभिन्न हिस्सों में नजर आएगा। हालांकि, भारत में भी इसे देखा जा सकेगा। जिन-जिन हिस्सों से इसे देखा जा सकेगा, वे इस प्रकार हैंः देश की राजधानी दिल्ली, बेंगलुरू (कर्नाटक), कोलकाता (पश्चिम बंगाल), चेन्नई (तमिलनाडु), उज्जैन (मध्य प्रदेश), वाराणसी और मथुरा ( दोनोंउत्तर प्रदेश में)।

एक नजर में समझें इस सूर्य ग्रहण की पूरी संभावित टाइमलाइन

शाम चार बजकर 29 मिनट पर शुरू होगा
अधिकतम साढ़े पांच बजे तक ग्रहण रहेगा
सूर्य अस्त होने के साथ शाम पांच 43 तक यह समाप्त हो जाएगा
आंशिक ग्रहण का पूरा समयकाल एक घंटा 14 मिनट और 15 सेकेंड रहेगा
सूतक काल तीन बजकर 17 मिनट पर चालू हो जाएगा
बच्चों, बूढ़ों और बीमार लोगों के लिए सूतक काल 12 बजकर छह मिनट पर चालू होगा और यह शाम पांच बजकर 43 मिनट तक चलेगा।

2022 में कब-कब और कितने पड़े ग्रहण?
दरअसल, साल 2022 में कुल चार ग्रहण पड़े, जिनमें दो चंद्र ग्रहण थे, जबकि दो सूर्य ग्रहण रहे। ये इस प्रकार रहे:

पहला सूर्य ग्रहण (आंशिक) - 30 अप्रैल, 2022
पहला चंद्र ग्रहण (पूर्ण) 15-16 मई, 2022
दूसरा सूर्य ग्रहण (आंशिक): 25 अक्टूबर, 2022
दूसरा चंद्र ग्रहण (पूर्ण): 7-8 नवंबर, 2022

क्या होता है Solar Eclipse?

आकाश में जब किसी चीज का हिस्सा दूसरे ग्रह से ढंक जाता है, तब उसे ग्रहण कहते हैं। ये दो तरह के होते हैं। पहला- सूर्य और दूसरा चंद्र ग्रहण। सूर्य ग्रहण तब लगता है, जब सूरज और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता (वह सूर्य की रोशनी रोकता है और चांद की परछाई पृथ्वी पर पड़ती है) है और हमें सूरज का हिस्सा नहीं दिखता है। जहां-जहां भी परछाई नजर आती है, वहां सूर्य ग्रहण कहा या माना जाता है। यह तीन प्रकार का है- आंशिक, वलयाकार और पूर्ण सूर्य ग्रहण।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news