Tuesday, December 20, 2022

PM मोदी की हत्या की बात पड़ी भारी , कांग्रेस नेता राजा पटेरिया गिरफ्तार

पन्ना : एमपी से मंगलवार की सुबह उस समय बड़ी खबर आई जब पन्ना जिले के पवई थाना की पुलिस ने अल सुबह 5.30 बजे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री राजा पटेरिया को गिरफ्तार कर लिया। उनकी यह गिरफ्तारी दमोह के हटा से की गई है। जानकारी के तहत राजा पटेरिया अपने गृहग्राम में थें। जंहा सुबह ही पुलिस पहुच गई।

जानकारी के तहत पन्ना पुलिस कप्तान के द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीम बनाई गई थी। जिसमें पुलिस अधिकारी सहित पन्ना जिले के चारों एसडीओपी, पवई व आजयगढ़ थाना प्रभारी सहित हटा एसडीओपी वीरेंद्र बहादुर सिंह पुलिस के साथ पूर्व मंत्री के हटा स्थित आवास पर सुबह 5 बजे पहुच कर गिरफ्तारी किए है।

गृहमंत्री के निर्देश पर कार्रवाई

ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टरों नरोत्तम मिश्रा के निर्देश पर पन्ना पुलिस कप्तान के द्वारा पवई थाना में सोमवार को राजा पटेरिया के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। तो वही पुलिस अविंलब कार्रवाई करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता को दमोह जिले के हटा से गिरफ्तार कर लिया है।

पीएम के हत्या किए जाने का दिया था विवादित बयान

दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजा पटेरिया ने पन्ना जिले में 11 दिसंबर को एक सभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिए थें। उन्होने सभा में कहा था अगर लोकतंत्र को बचाना है तो मोदी की हत्या को तत्पर रहो। इन द सेंस हराने का काम करो।

यह बयान सोशल मीडिया में वायरल होते ही भाजपा हमलाबर हो गई। स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पर तीखी अपत्ति जताई थी तो वही गृहमंत्री ने बयान पर अलोचना करते हुए पुलिस को राजा पटेरिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके कार्रवाई करने की बात कहीं थी। जिस पर पन्ना पुलिस ने एक्शन लिया है।

कांग्रेस भी ले सकती है एक्शन

बयान के बाद मामला बिगड़ता देख राजा पटेरिया ने हांलाकि इसके लिए मांफी मागी और कंहा कि वे गांधी विचारक है। उनके बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है। वही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कंहा कि कांग्रेस का एक-एक नेता गांधी विचारक है। अगर वीडियों में सच्चाई है तो वे इसके लिए वे कड़ी निंदा करते है। माना जा रहा है कि कांग्रेस भी इस मामले में राजा पटेरिया के खिलाफ कदम उठा सकती है।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news