Sunday, May 19, 2024

जिले में जल्द लागू होगी जमीन रजिस्ट्री की नई व्यवस्था

दुर्ग: न्यूज़ 36 : जिले में जमीन रजिस्ट्री के लिए  एनजी डीआरएस( राष्ट्रीय दस्तावेज पंजीकरण प्रणाली) की नई व्यवस्था जल्दी लागू की जाएगी। इस संबंध में जिला पंजीयन कार्यालय के स्टाफ को प्रशिक्षण दिया गया। वर्तमान में जमीन रजिस्ट्री के लिए ई – पंजीयन की व्यवस्था चल रही है ।यह काम निजी एजेंसी के माध्यम से किया जा रहा है। इसके लिए नया सॉफ्टवेयर बनाया गया है। नई व्यवस्था से रजिस्ट्री में कम समय लगेगा। इसमें खरीदी बिक्री प्रकिया की ऑनलाइन एंट्री स्वयं से होगी। केवल दस्तावेजों की अंतिम जांच पंजीयन कार्यालय में होगी, ई- पंजीयन में निजी एजेंसी को प्रति पेज ₹60 का भुगतान करना होता है। अब यह राशि शासन के कोर्स में जाएगा जिले में वर्तमान में ई – पंजीयन प्रणाली से जमीन की रजिस्ट्री की जा रही है। यह व्यवस्था वर्ष 2017 से लागू है, ई – पंजीयन प्रणाली के तहत जमीन की रजिस्ट्री में करीब आधे घंटे का समय लगता है। इसमें रजिस्ट्री से संबंधित दस्तावेजों को स्कैन कर अपलोड किया जाता है, इसके एवज में प्रति पेज ₹60 शुल्क लिया जाता है। सरकार ने यह काम निजी कंपनी को दे रखा है। हालांकि पंजीयन कार्यालय के अधिकारियों द्वारा सत्यापन के बाद ही रजिस्ट्री पूरी होती है। अब राष्ट्रीय दस्तावेज पंजीकरण प्रणाली से जमीन की रजिस्ट्री होगी। इसके लिए केंद्र के भूमि संसाधन विभाग के देखरेख में नया सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है। जिसमें संपत्ति से संबंधित रिकार्ड उपलब्ध रहेगा जिला पंजीकरण से प्राप्त जानकारी के मुताबिक नई व्यवस्था से जमीन की रजिस्ट्री में 5 से 7 मिनट का समय लगेगा।

आप की राय

[yop_poll id="1"]

Latest news
Related news