Monday, February 26, 2024

महापौर ने शिविर का अवलोकन कर नागरिको से बातचीत कर उनका हाल-चाल जाना:कहा अगर नही बना है तो अवश्य बनवाये:

पीएम विश्वकर्मा योजना पंजीयन,आयुष्मान कार्ड एवं आधार अपडेशन शिविर में उमड़ रही हितग्राहियों की भीड़,

 

दुर्ग : – नगर पालिक निगम क्षेत्र ब्राह्मण पारा वार्ड 32 दिगम्बर मंदिर में शिविर में उमड़ रही हितग्राहियों की भीड़।महापौर धीरज बाकलीवाल अधिकारियों के साथ शिविर अवलोकन के लिए समय पर पहुँचे।पीएम विश्वकर्मा योजना, आधार कार्ड व आयुषमान कार्ड बनवाने आए नागरिको से बातचीत कर उनका हाल-चाल जाना।पूछा कि उनके परिवार के सभी लोगो का आयुषमान कार्ड और आधार कार्ड व पीएम योजना के लिए पंजीयन अवश्य करवाए।उन्होंने शिविर में पहुँचकर वार्ड के नागरिको से रूबरू हुए।महापौर ने शिविर के अवलोकन के दौरान मौजूद नोडल अधिकारी मोहेंद्र साहू से चर्चा कर व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए।नगर निगम लगातार वार्डवार नागरिकों के लिए पीएम विश्वकर्मा योजना से लाभान्वित करने निगम क्षेत्र में शिविर लगाया जा रहा है।देखा जा रहा है कि शिविर में लोगो का बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है।जिसको देखते हुए पुनः इसी वार्ड 32 में शिविर का आयोजन किये जाने की बात कही।लोग शिविर में पहुँचकर अपना पंजीयन करा रहे है।बता दे कि सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित शिविर में आम नागरिकों को उनके वार्ड अथवा मोहल्ले में ही प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का आनलाइन पंजीयन,आधार कार्ड अपडेशन एवं आयुष्मान कार्ड बनाने व सुधार करने सुविधा शिविर में प्रदान की जा रही है। महापौर धीरज बाकलीवाल ने बताया प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत 18 प्रकार के पारंपरिक व्यवसाय में कारीगरो और शिल्पकारों की पहचान विश्वकर्मा के रूप में कर उन्हें लाभान्वित किया जाना है। कारीगरों की क्षमता,योग्यता और उत्पादकता बढ़ाने के लिए कौशल उन्नयन हेतु प्रशिक्षण पश्चात टूलकिट हेतु 15 हजार रूपए प्रदान किया जाना है।पंजीकृत हितग्राही जो प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे उन्हें प्रतिदिन 500 रूपए के प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। व्यापार को आगे बढाने रियायती ब्याज दर पर लोक की सुविधा भी प्रदान किया जाएगा।आयुक्त लोकेश चन्द्राकर ने बताया कि पारंपरिक 18 व्यापार प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना मे पारंपरिक रूप से 18 प्रकार के व्यापार जैसे लकडी का काम करने वाले बढाई, नाव बनाने वाले,अस्त्रकार, लोहार, लोहे का औजार निर्माता, तालासाज, सोनार, कुम्हार, मूर्ति कार, पत्थर के मूर्ति बनाने वाले, चर्मकार, जूते बनाने वाले, राजमिस्त्री, दर्जी, नाई, धोबी, खिलौना बनाने वाले, टोकरी, चटाई, झाडू पैरदान बनाने वाले अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकते है।आवश्यक दस्तावेज

योजना मे लाभ लेने वाले अपना आधार कार्ड, बैक पासबुक, पासपोर्ट आकार का स्वयं का फोटो के साथ शिविर स्थल पर आनलाइन आवेदन कर सकते है।

आप की राय

[yop_poll id="1"]

Latest news
Related news