Monday, December 5, 2022

चर्चा में आए डॉक्टर Rx की जगह ‘श्री हरि’ लिखा, हिंदी में लिखा दवाओं का नाम

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि डॉक्टरों को दवा लिखने से पहले Rx की जगह ‘श्री हरि’ लिखना चाहिए और उसके बाद हिंदी में दवाओं के नाम लिखने चाहिए। इसी बीच एमपी के सतना से एक ऐसी खबर आ रही है जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। सतना के एक सरकारी डॉक्टर ने हिंदी में पर्चा लिखा और पर्चे में Rx की जगह ‘श्री हरि’ लिख हिंदी में दवाओं का नाम लिखा।

Rx की जगह ‘श्री हरि’ लिखा
सतना जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर दूर स्थित शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कोटर में पदस्थ चिकित्सा अधिकारी डॉ सर्वेश सिंह के नाम का लिखा हुआ पर्चा वायरल हो रहा है। वायरल हो रही तस्वीर में 16 अक्टूबर को रश्मि सिंह नाम की महिला रोगी को यह पर्चा लिखा गया है। बताया गया है कि रोगी 26 साल की रश्मि सिंह पति संतराज सिंह ग्राम लौलाछ के पेट के नीचे दर्द हो रहा था और मोशन भी पास नहीं हो रहा था। इस पर वह प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटर पहुंची जहां पर डॉ. सर्वेश सिंह ने आरएक्स की जगह ‘श्री हरि’ लिखा और उसके बाद दवाएं लिखी। महिला रोगी को डॉक्टर ने पर्चे में श्री हरि लिखने के बाद पांच टेबलेट लिखी। जिसमें आईएफए, कैल्शियम डी थ्री, मल्टीविटामिन, ड्रोटिन एम एक अन्य दवा भी लिखी।

क्या कहा डॉक्टर सर्वेश ने
डॉ. सर्वेश ने कहा कि रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का लाइव कार्यक्रम देख रहा था। मुख्यमंत्री के भाषण को भी सुना। अतिथियों ने कहा कि कोशिश करें कि सरकारी अस्पतालों में दवाइयों के पर्चे हिन्दी में लिखे जाएं। बस इसलिए विचार आया कि क्यों न आज से ही इसकी शुरुआत की जाए। डॉ. सर्वेश ने लाइव हिंदुस्तान से कहा कि पेट दर्द से पीड़ित रश्मि सिंह पहली मरीज रही जो रविवार को पीएचसी में उपचार के लिए आई थी। उसी की ओपीडी पर्ची पर हिन्दी में दवाइयां लिखी गईं।  

15 अक्टूबर को भोपाल में आयोजित हिंदी की व्यापकता एक विमर्श कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि आरएक्स की जगह श्री हरि लिखो… फिर क्रोसिन लिखो तो इसमें क्या परेशानी है। इसी के बाद सतना जिले के कोटर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के डॉ सर्वेश सिंह ने हिन्दी में दवाओं का पर्चा लिखा है। जो अब सुर्खियां बटोर रहा है।  

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news