Tuesday, December 20, 2022

Shraddha Murder Case : दृश्यम स्टाइल में झूठ बोल रहा आफताब, जांच शुरू होते ही खांसने लगा

Shraddha Murder Case : दिल्ली में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या करने वाले आफताब अमीन पूनावाला के पॉलीग्राफी टेस्ट का दूसरा सेशन पूरा हो गया है। आगे भी उसका टेस्ट जारी रह सकता है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इस टेस्ट के जरिए कई ऐसी बातें पता चली हैं, जो हैरान कर देने वाली हैं। आफताब ने ये बात स्वीकार की है कि उसने श्रद्धा वालकर की हत्या करने से पहले बॉलीवुड फिल्म दृश्यम देखी थी।

और वह उसके दूसरे पार्ट के आने का भी इंतजार कर रहा था। रोहिणी में फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) के सूत्रों के अनुसार, आफताब दृश्यम फिल्म को देखकर हत्या की कहानी गढ़ने की फिराक में था। उसने पूरी प्लानिंग से श्रद्धा को मारा था और उसके दोस्तों से फोन और सोशल मीडिया पर बातचीत कर रहा था।  

सूत्र के मुताबिक, पॉलीग्राफी टेस्ट में पहले दिन जब एफएसएल के एक्सपर्ट ने आफताब से पूछा कि क्या तुम्हें लगता है कि तुम मूवी देख बच सकते हो? इस पर कोई जवाब नहीं दिया। फिर आफताब से पूछा गया कि क्या तुमने दृश्यम फिल्म देखी है? तो इस पर आफताब ने कहा की हां दृश्यम फिल्म देखी है। अब तो दृश्यम पार्ट 2 भी आ गई। एक रिपोर्ट के अनुसार, उसने स्वीकार किया है कि उसने दृश्यम फिल्म देखकर ही साजिश की थी। (Shraddha Murder Case)

श्रद्धा से नफरत करता था आरोपी

पॉलीग्राफी टेस्ट में शामिल मनोवैज्ञानिकों को ऐसा लगता है कि आफताब श्रद्धा से नफरत करता था। सूत्रों के अनुसार, श्रद्धा को घूमने फिरने का काफी शौक था। इसी वजह से आफताब उसे उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश लेकर गया था। श्रद्धा को घुमाना भी हत्या की प्लानिंग का ही हिस्सा था। वो दिखाना चाहता था कि दोनों के बीच सबकुछ सामान्य चल रहा है। वह बाद के लिए सबूत बना रहा था। ताकि ये साबित हो सके कि श्रद्धा ही उसे छोड़कर चली गई है। यही कारण है कि मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि उसने श्रद्धा को गुस्से में नहीं बल्कि पूरी प्लानिंग के तहत मारा है। उसे मुंबई से दिल्ली लाना भी प्लानिंग का ही हिस्सा था। उसने ये भी कहा कि उसका श्रद्धा के माता पिता से बहुत बार झगड़ हो गया था।

सवालों का ढंग से नहीं दे रहा जवाब

इससे पहले खबर आई थी कि दूसरे सेशन में आफताब से पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान तकरीबन 40 से ज्यादा सवाल पूछे गए। इस दौरान उसे कई बार छींके आईं। आफताब को हल्का जुकाम भी था। जिसके कारण गुरुवार को पॉलीग्राफ टेस्ट अधूरा रह गया था। एफएसएल सूत्रों के मुताबिक आफताब अधिकतर सवालों के जवाब एक लाइन के उत्तर में दे रहा था। सूत्रों का ये भी कहना है कि पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान एफएसएल के एक्सपर्ट सभी सवाल हिंदी में पूछ रहे थे लेकिन आफताब अधिकतर सवालों के जवाब अंग्रेजी में दे रहा था। (Shraddha Murder Case)

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news