Monday, December 19, 2022

संजू त्रिपाठी हत्याकांड : बाप, भाई, भाभी बहन सबने मिलकर किया था मर्डर का प्लान , 13 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर। बिलासपुर के हिस्ट्रीशीटर पूर्व कांग्रेस नेता संजू त्रिपाठी की हत्या की साजिश में शामिल पिता जयनारायण त्रिपाठी, भाई कपिल त्रिपाठी उसकी पत्नी सुतित्रा त्रिपाठी समेत 13 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसकी हत्या के लिए पिता और भाई ने मिलकर उत्तरप्रदेश के पांच शूटरों को 10 लाख रुपए की सुपारी दी थी।

इस षड्यंत्र में कपिल की पत्नी के साथ ही उसकी मुंहबोली बहन, जीजा, भांजा सहित अन्य लोग शामिल थे। पुलिस इस केस में हथियार बेचने वाले आरोपियों को पकड़कर अब पांच शूटरों की तलाश कर रही है।

एसएसपी पारुल माथुर ने रविवार की रात इस बहुचर्चित हत्याकांड को लेकर मीडिया से बातचीत की। उन्होंने बताया कि चार दिन पहले सकरी में हुए हिस्ट्रीशीटर कांग्रेस नेता संजू त्रिपाठी की गोली मारकर हत्या करने के बाद से पुलिस इस केस की जांच में जुट गई थी। उन्होंने बताया कि संपत्ति का झगड़ा और रिश्तेदार महिला से अनैतिक सबंध ही इस हत्याकांड का मुख्य कारण बना।

संजू का पिता जयनारायण और मुख्य आरोपी कपिल त्रिपाठी के दो दिसंबर को हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग मिलने के बाद से ही तय हो गया था कि इन्होंने ही मिलकर षड्यंत्र रचा है। तय प्लानिंग के अनुसार कपिल त्रिपाठी ने अपने दोस्त प्रेम श्रीवास के माध्यम से 10 लाख में सुपारी देकर उत्तरप्रदेश के 5 शूटर्स को बुलाया था। एडवांस में उन्हें 5 लाख रुपए भी दे दिया था। हालांकि, अभी शूटर पकड़े नहीं गए हैं। लेकिन, उनकी पहचान हो गई है और उनकी तलाश की जा रही है।

एसएसपी ने बताया कि शूटर्स को हथियार उपलब्ध कराने के लिए प्रेम श्रीवास, कपिल को रायगढ़ के दो युवकों से मिलवाया था। इसके बाद प्रेम और कपिल अंबिकापुर भी गए थे। जहां झारखंड के सप्लायर ने उन्हें डेढ़ लाख रुपए में दो पिस्टल दिया था और 12 कारतूस के लिए 50 हजार रुपए लिए थे। हथियार सप्लायर रायगढ़ के दो युवक और झारखंड के सप्लायर को भी पुलिस ने पकड़़ लिया है।

कपिल ने अपने पिता जयनारायण, जीजा भरत तिवारी, बहन, भतीजा और भांजे के साथ मिलकर बाहर से शूटर बुलाकर संजू की हत्या करवाने की साजिश की थी। योजना में संजू ने अपने दोस्तों और करीबी लोगों को भी शामिल किया। उसकी यह प्लानिंग दो बार फेल हो चुकी थी। इससे पहले भी दो बार शूटर्स आए थे। लेकिन, संजू की हत्या करने में नाकाम रहे। तब कपिल अपनी प्लानिंग के अनुसार झारखंड और दिल्ली में था। तीसरी बार कपिल ने संजू की हत्या होते तक शहर में ही रहने की प्लानिंग की और भाई की हत्या करवाने में सफल हो गया। इसके बाद वह घर छोड़कर फरार हो गया।

पुलिस ने इस केस में संजू के पिता जय नारायण त्रिपाठी, भाई कपिल त्रिपाठी, जीजा भरत तिवारी सहित आशीष तिवारी, रवि तिवारी, प्रेम श्रीवास,अमन गुप्ता व राजेंद्र सिंह ठाकुर के साथ ही कपिल की पत्नी सुतित्रा त्रिपाठी सहित 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। कपिल की पत्नी सुतित्रा त्रिपाठी का नेपाल बॉर्डर झारखंड के पिथौरागढ़ में मायका है, जहां कपिल और उसके दो साथियों के नेपाल भागने से पहले उसने मायका में रहने की व्यवस्था कराई थी। इस पूरे षड्यंत्र में कपिल की पत्नी सुतित्रा भी शामिल रही हैं।

एसएसपी पारुल माथुर ने बताया कि संजू त्रिपाठी से उसकी मुंहबोली व जयनारायण की दत्तक पुत्री ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसके पति भरत तिवारी, भतीजा आशीष तिवारी और भांजा रवि तिवारी ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। ये तीनों भाग गए हैं और जल्द ही सरेंडर कर देंगे। उसकी बातों को सुनकर पुलिस भी सकते में आ गई। लिहाजा, पुलिस ने बारीकी से जांच कर संदेहियों का बयान दर्ज किया। तब पता चला कि हत्या की साजिश कपिल ने रची है और वह अपने जीजा, भतीजा और भांजा समेत अन्य लोगों को षड्यंत्र में शामिल कर हत्या की जिम्मेदारी लेने की बात कही थी। साथ ही यह भी तय किया था वह नेपाल में रहकर इन सभी को कोर्ट से छुड़ा लेगा। षड्यंत्र उजागर होने के बाद पुलिस हर हाल में कपिल को नेपाल जाने से रोकने में जुट गई और इससे पहले ही उसे गिरफ्तार करने में पूरी ताकत लगा दी, जिसमें पुलिस को सफलता भी मिल गई।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news