Monday, December 5, 2022

पीएफआई के निशाने पर थे प्रधानमंत्री  मोदी, जानें कितनी हुई थी फंडिंग

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के देशभर के कई ठिकानों पर छापामार कार्रवाई कर 106 लोगों को गिरफ्तार किया था।

आतंकियों से कनेक्शन के शक में यह कार्रवाई की गई। अब पीएफआई से जुड़े एक सदस्य से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है। इस बारे में सदस्य ने बताया कि संगठन के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पटाना यात्रा थी। इतना ही नहीं सदस्यों को माहौल भड़काने के लिए ट्रेनिंग भी दी गई थी। मिली जानकारी के अनुसार इस संगठन को दुनियाभर से 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का फंड भी मिला है।

बता दें कि इस आरोपी का नाम शफीक पैठ है जिसने यह खुलासा किया है। ईडी और एनआईए दोनों ने ही मिलकर यह छापे मारे थे और मामले में दोनों ही एजेंसिया सतर्क रूप से काम कर रही हैं। पीएम मोदी की 12 जुलाई को पटना यात्रा के दौरान माहौल बिगाड़ने की योजना बनाई गई थी।

अरबों का लेन-देन, कोई हिसाब नहीं

जांच में पता चला है कि पिछले एक साल में ही पीएफआई के अकाउंट में 120 करोड़ रुपये की रकम जमा हुई है। अब रकम भेजने वालों की भा जांच की जा रही है। यह करोड़ों की रकम न सिर्फ भारत से बल्कि विदेशों से भी जमा की गई है।

एनआईए के नेतृत्व में कई एजेंसियों ने देश में आतंकी गतिविधियों को समर्थन देने के आरोप में गुरुवार को 15 राज्यों में 93 स्थानों पर एक साथ छापेमारी कर पीएफआई के 106 पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया था। सबसे ज्यादा 22 गिरफ्तारियां केरल से हुई हैं।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news