Tuesday, November 29, 2022

खुला सेल्फी के दौरान मौत के मामले का रहस्य, पत्नी के चरित्र पर था संदेह, पति पहले मंदिर ले गया फिर पहाड़ के ऊपर

महासमुंद : खल्लारी थाना में 7 नवंबर को विरेन्द्र चक्रधारी पिता विष्णु चक्रधारी (30 वर्ष) कुम्हार पारा महासमुन्द ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि 11 बजे उसकी बहन चित्ररेखा अपने पति सोनूराम चक्रधारी एवं भांजी के साथ तीनों मोटर सायकल से खल्लारी दर्शन करने पहाड़ी पर गए थे। दोपहर 3 बजे बहन दमाद सोनूराम चक्रधारी मोबाइल फोन से बताया कि चित्ररेखा चक्रधारी खल्लारी मंदिर के पहाडी से गिर गई है, ढूंढने से नही मिल रही है। बताने पर विरेन्द्र अपने साथी रतन चक्रधारी के साथ खल्लारी मंदिर पहाडी जाकर देखा कि पहाडी के चटटान के पास खाई में इसकी बहन चित्ररेखा मृत अवस्था में पडी थी। इसकी रिपोर्ट पर थाना खल्लारी मे मर्ग कायम कर जांच की जा रही थी।

पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी भोजराम पटेल (IPS) ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आकाश राव, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस श्रीमती मंजूलता बाज और थाना खल्लारी व सायबर सेल की टीम को घटनास्थल पहुंचकर बारिकी से जॉच करने निर्देशित किया। टीम के द्वारा घटनास्थल की बारिकी से निरीक्षण किया गया। घटना स्थल एवं शव निरीक्षण करने पर घटना संदेहास्पद प्रतीत होने लगा। पुलिस टीम के द्वारा मृतिका की मौत के संबंध में मृतिका के पति व मृतिका के परिजनों से छोटी-छोटी जानकारी एकत्र कर जॉच करना प्रारंभ की गई। साथ ही साथ जिला अस्पताल से मृतिका के मृत्यु का संक्षिप्त पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त किया गया। जिसमें डाक्टर के द्वारा मृतिका की मौत गिरने से एवं पसलियोें व हड्डी टुटने से मौत होना लेख किया गया। जिस पर धारा 302 भादवि पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। पुलिस का कहना है कि आरोपी पति ने धक्का देकर पत्नी की हत्या की है।

सायबर सेल की टीम व थाना खल्लारी पुलिस की टीम घटनास्थल पहुचकर घटना निरीक्षण कर मृतक के बारे में अलग-अलग टीम गठित कर छोटी सी छोटी जानकारी, प्रेम प्रसंग एवं मृतक के निजी जीवन के संबंध में जानकारी एकत्र किया गया। जॉच के दौरान पता चला कि 7 नवंबर को मृतिका चित्ररेखा, पति सोनूराम चक्रधारी तथा भांजी के साथ भीमखोज स्थित खल्लारी मंदिर में दर्शन करने गए थे। पूछताछ में बयान में भिन्नता पाए जाने पर संदेह बढ़ता गया। मृतिका के पति द्वारा मंदिर दर्शन कर कुछ सीढ़ी नीचे उतरना तथा भीम पाव पहाडी तरफ जाना, मृतिका सेल्फी फोटो खिचते समय पैर फिसल जाने से खाई में गिरकर मृतिका के मृत्यु हो जाना बताया गया। मृतिका के भांजी कथन में खल्लारी मंदिर पहाड के उपर मंदिर दर्शन कर कुछ सीढ़ी नीचे आना बताई तथा मृतिका के पति द्वारा पुनः मंदिर पहाड़ के उपर भीम पाव पहाडी तरफ घुमने जाना बताया।

मृतिका द्वारा पैर में दर्द होना तथा दुबारा सीढ़ी उपर जाने से इंकार करने पर मृतिका को उसके पति द्वारा जबरस्ती हाथ खींचकर उपर ले जाना बताई। पूछताछ पर दोनो के कथनों में विरोधाभाष होने से पुलिस द्वारा मृतिका के पति पर संदेह होने लगा। टीम के द्वारा मृतिका के पति सोनूराम चक्रधारी से बारिकी से पूछताछ किया गया, जो संदेही सोनूराम द्वारा पुलिस टीम को गोलमोल जवाब दिया गया। बाद में सख्ती से पूछताछ करने पर बताया कि वह मृतिका चित्ररेखा के चरित्र पर संदेह करता था इसलिए 6 नवंबर को मृतिका के माईका कुम्हारपारा महासमुन्द में छठ्ठी कार्यक्रम में दोनो सम्मिलित हुए तथा दुसरे दिन सुबह मृतिका को अपने रास्ते से हटाने पूर्व नियोजित अनुसार 7 नवंबर को भीमखोज स्थित खल्लारी मंदिर दर्शन करने घुमाने ले जाना,

मंदिर दर्शन पश्चात् सेल्फी फोटो खिचवाने के बहाने भीम पाव पहाडी खाई तरफ ले जाना। सेल्फी फोटो खिचते समय मौका पाकर अपनी पत्नि चित्ररेखा को पहाड उपर से जोर से धक्का देकर खाई में ढकेल देना बताया। जिससे चित्ररेखा की खाई में गिरने से मृत्यु हो जाना, पुलिस के समक्ष कथित तौर पर अपराध करना स्वीकार किया इस कार्रवाई में थाना प्रभारी खल्लारी निरीक्षक अशोक वैष्णव, सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत, सउनि. प्रकाश नंद, प्रआर. हरीप सोना आर. कामता आवडे, सौरभ तोमर, छत्रपाल सिन्हा, महेन्द्र यादव, विजय साहू, गणेशु बंजारे तथा थाना खल्लारी व सायबर सेल की टीम की भूमिका रही।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news