Wednesday, November 30, 2022

मालिश के बाद अब जेल में होटल का खाना खाते दिखे मंत्री सत्येंद्र जैन, वीडियो वायरल

नई दिल्ली : मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद मंत्री सत्येंद्र जैन का अब दूसरा वीडियो जारी हुआ है। तिहाड़ जेल के सूत्रों से मिले ताजा सीसीटीवी फुटेज में दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन अपनी सेल में बढ़िया तरीके खाना खाते दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ वह फल भी खाते नजर आ रहे हैं। उधर, तिहाड़ जेल के सूत्रों ने कहा कि जेल में रहने के दौरान सत्येंद्र जैन का वजन 8 किलो बढ़ गया है, जबकि उनके वकील ने दावा किया था कि उनका वजन 28 किलो कम हो गया है।

फल और खाना खाते नजर आ रहे सत्येंद्र जैन

दिल्ली के भाजपा नेताओं ने तिहाड़ जेल के अंदर फल और खाना खाते सत्येंद्र जैन का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर शेयर किया है। इसके साथ कहा कि अदालत में गलत जानकारी दी जा रही कि सत्येंद्र जैन को जेल में फल नहीं दिया जा रहा है।

भाजपा नेताओं ने बोला हमला

वीडियो में ऐसा लग रहा है कि खाना बाहर से मंगाया गया है। उसकी पैकेजिंग से ऐसा लग रहा है। वहीं, वह केले व संतरे भी खाते नजर आ रहे हैं। इस पर भाजपा के साथ कांग्रेस पार्टी भी हमलावर है। वीडियो पर बयान देते हुए भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा कि सत्येंद्र जैन को तिहाड़ जेल में वीवीआइपी सुविधा दी जा रही है। इसी के तहत उन्हें बढ़िया खाना भी दिया जा रहा है। 

वहीं, दिल्ली भाजपा नेता हरीश खुराना वीडियो पर प्रतिक्रिया में कहा कि कमरे में मिली सुविधा को देखकर ऐसा लग रहा है कि जैसे सत्येंद्र जैन किसी रिजॉर्ट में हैं। उन्होंने कमरे में एयर कंडीशन होने की भी आशंकी जताई है।

उधर, दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन के तिहाड़ जेल में मसाज कराने के वीडियो को लेकर सामने आई सच्चाई ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव के बीच आम आदमी पार्टी (आप) को असहज कर दिया है। शनिवार को जैन की मसाज कराते वीडियो सामने आने पर भाजपा नेताओं ने AAP को कठघरे में खड़ा करते हुए मामले की जांच के लिए एलजी वीके सक्सेना को पत्र लिखा था।

तिहाड़ में जेल में बंद मंत्री सत्येंद्र जैन को मसाज देने वाला कैदी है?  

इस पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पलटवार करते हुए सत्येंद्र जैन को बीमार और मसाज को फिजियोथेरेपी बताया था, लेकिन  मंगलवार को पता चला कि सत्येंद्र जैन की मसाज करने वाला फिजियोथेरेपिस्ट नहीं, बल्कि जेल में ही बंद दुष्कर्म का आरोपित है, जिस पर नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के मामले में पिछले वर्ष द्वारका के जाफरपुर कलां थाने में पाक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज है।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news