Tuesday, November 29, 2022

अस्पताल में छोटी सी बात पर नर्सों ने युवकों को बंद कमरे में बेरहमी से पीटा

बिहार के छपरा सदर अस्पताल में नर्सों की गुंडई करने का एक मामला सामने आया है. नौकरी के लिए मेडिकल हेल्थ सर्टिफिकेट बनावने आए दो युवकों को बंधक बनाकर (Nurses Beat Up Youths in Chapra Sadar Hospital) पीटा गया. उनका कसूर सिर्फ इतना था कि वे अस्पताल की व्यवस्थाओं का वीडियो बना रहे थे. जिसके बाद अस्पताल की नर्सों ने उन्हें बंधक बना लिया और रूम में बंद करके दोनों की लाठी-डंडों से पिटाई की. इस घटना को लेकर एक वीडियो भी सामने आया है।

पिटाई का वीडियो तेजी से वायरल: नर्सों द्वारा युवकों की पिटाई का वीडियो तेजी से वायरल (Chapra Viral Video) हो रहा है.वायरल वीडियो में दो नर्स एक युवक की लाठी डंडे से पिटाई कर रही है. इस दौरान कोई इस पूरे मामले का वीडियो भी बना रहा है. वीडियो में दिख रही नर्स का नाम साक्षी और पूजा है. दोनों युवक अस्पताल की व्यवस्था का वीडियो बना रहे थे. तभी इनको पकड़ लिया गया और कमरे में बंद कर पिटाई की गई. दोनों युवक नौकरी के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट बनाने आए थे. वीडियो में सुना जा सकता है कि नर्स वीडियो बनाने पर भड़की हुई दिख रही है. कहती है वीडियो बनाना है तो अपनी बहन और मां की बनाओ. दोनों युवक कहते हैं कि वो हेल्थ सर्टिफिकेट बनवाने आए हैं. लेकिन नर्स उसे एक के बाद एक डंडे बरसाती जाती है. अगर नर्सों का आरोप सही है तो उसे कानूनी तरीका अपनाना चाहिए था. ना कि यूं हाथ में डंडा लेकर पीटना चाहिए था।

दोनों नर्सों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई: यह पूरी घटना 14/15 अक्टूबर की बताई जा रही है. अस्पताल प्रबंधन ऐसे किसी भी घटना की जानकारी से इंकार किया है. यह घटना छपरा सदर अस्पताल की ही है. दोनों नर्सों का भी पहचान कर ली गई है. लेकिन अब तक अस्पताल प्रशासन ने मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की है. अस्पताल की हालत किसी से छिपा नहीं है. कोई भी काम कराने के लिए दलाल का सहारा लेना पड़ता है. नर्स और मेडिकल स्टॉफ की टीम मरीजों से खराब व्यवहार करते हैं. जब इस मामले को लेकर अस्पताल प्रबंधन से जानकारी मांगी गयी तो घटना होने से इंकार कर दिया. वहीं सिविल सर्जन ने भी मामले की जानकारी नहीं होने की बात कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया. इस बीच यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news