Tuesday, November 29, 2022

मेरे पिताजी नहीं है, मैं पढ़ना चाहती हूं, लेकिन पैसे नहीं है, मुख्यमंत्री बोले – कितना चाहिए और फिर दे दिए लाखों

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को डोंगरगढ़ के घुमका में थे, इस दौरान उन्होने चौपाल लगायी और ग्रामीणों की समस्या को सुना। मुख्यमंत्री जब ग्रामीणों की समस्या सुन रहे थे, तभी धनेश्वरी नाम की एक छात्रा ने सभी का ध्यान आकृष्ट किया।

इस दौरान धनेश्वरी ने कहा कि मेरे पिता जी नहीं हैं। भाई छोटे हैं। मैंने बायोलॉजी से 73 प्रतिशत अंक से पास किया है। इस बार उसका नर्सिंग में एडमिशन हुआ है।

  • जैसे-तैसे करके एडमिशन तो लिया है, लेकिन पढ़ाई के लिए पैसे चाहिये।
  • मुख्यमंत्री ने पूछा – कितना चाहिए ?
  • धनेश्वरी ने कहा, जितना दे दें।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि आपको एक लाख दे देंगे।

धनेश्वरी ने कहा कि 2 लाख दे दीजिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ठीक है अभी डेढ़ लाख रुपये देंगे, फिर कॉलेज के फाइनल में मुझसे मिलने आना और पढ़ाई के बारे में बताना, फिर तुम्हारी आखरी किश्त दे देंगे।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news