Tuesday, December 20, 2022

Heart Attack Alert : देश में तेजी से बढ़ रहे हार्ट अटैक के केस, किशोर और युवाओं को भी पड़ रहा दिल का दौरा

Heart Attack Alert :  भारत में हार्ट अटैक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में लगातार हार्ट अटैक के मामलों में इजाफा देखा जा रहा है। हैरानी की बात ये है कि हार्ट अटैक से जिनकी मौत हो रही है, उसमें बच्चे, युवा और बुजुर्ग सभी शामिल हैं। हार्ट अटैक का शिकार हुए लोग ऊपर से तो फिजिकली फिट थे, लेकिन अचानक उनके दिल ने दगा दे दिया। बीते दिनों कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को जिम करते हुए अटैक आ गया था, जिसके बाद कई दिनों तक वो कोमा में रहे, लेकिन आखिरकार जिंदगी की जंग हार गए।

वहीं टीवी अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला को एक्सरसाइज करते हुए हार्ट अटैक आया था, उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई। इसी कड़ी में अगला नाम सिद्घांत वीर सूर्यवंशी का है, जो कि सिद्धार्थ शुक्ला की तरह ही अभिनेता थे। उनको भी जिम में कसरत करते समय हार्ट अटैक आया था। वो भी इस दुनिया को छोड़कर चले गए। बीते कुछ सालों में हार्ट अटैक के मामलों में वृद्धि हुई है, विशेष रूप से 25 से 50 साल की आयु के लोगों के बीच इसके मामले बढ़े हैं। हाल ही में कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार, गायक केके जैसी कई हस्तियों का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। (Heart Attack Alert )

हार्ट अटैक के मामले 30% तक बढ़े

बता दें कि पिछले साल की तुलना में हार्ट अटैक के मामले 30% तक बढ़े हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें दिल के रोगों से हो रही हैं। दुनिया में 16 फीसदी मौतें दिल के रोगों से हो रही है। वहीं कई सेलिब्रिटी लोगों की मौत हार्ट अटैक से हो चुकी है। कोविड महामारी के बाद हार्ट अटैक के मामलों में इजाफा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक पूरी दुनिया में कोविड मरीजों में हार्ट अटैक के मामलों में ढाई गुना इजाफा हुआ है। कोविड हार्ट पर असर जरूर डालता है। जो कोविड के सीवियर मरीज रहे हैं, उनके साथ 25 प्रतिशत आसार हैं कि उन्हें हार्ट अटैक या हार्ट से जुड़ी अन्य दिक्कतें हो सकती हैं। डॉक्टर का कहना है कि कोविड की वजह से हार्ट अटैक हुए हैं। जिन्हें कोविड हुआ है उनमें हार्ट कमजोर होना, धड़कनें तेज होना, हार्ट मसल्स में कमजोरी, हार्ट के मसल्स में सूजन आने जैसी दिक्कतें हो रही हैं।

कोविड के बाद बढ़े हार्ट अटैक के मामले

कोविड ने हमारे दिल पर असर डाला है। कोविड के बाद हम अपने मरीजों में ऐसा नियमित रूप से देख रहे हैं, जिन मरीजों को सीवियर कोविड हुआ था उनमें हार्ट अटैक और हार्ट की दूसरी बीमारियों का खतरा 25 फीसदी ज्यादा खतरा है। इसलिए इतना कहा जा सकता है कि कोविड के बाद हार्ट अटैक के मामलों में ढाई गुना इजाफा हुआ है और कोविड के कारण हार्ट अटैक होना या हार्ट की दूसरी बीमारी के वजह से एडमिशन भी बढ़ा है। (Heart Attack Alert )

युवाओं में हार्ट अटैक के 15-18 प्रतिशत मामले

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के हृदय रोग विभाग के प्रोफेसर का कहना है कि हृदय को रक्त और पोषण की आपूर्ति करने वाली धमनियों में अचानक रुकावट के कारण दिल का दौरा पड़ता है। उनका कहना है कि धूम्रपान के आदी, सुस्त जीवन शैली वाले, मोटापे, खराब रक्तचाप से ग्रस्त, मधुमेह से पीड़ित या उच्च कोलेस्ट्रॉल के शिकार लोगों के साथ इस तरह की दिक्कत हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि इसके सिर्फ यही कारण नहीं हैं, जिम में अत्यधिक कसरत करने से भी ऐसा हो सकता है। आंकड़ों के मुताबिक युवाओं में हार्ट अटैक के 15-18 प्रतिशत मामले होते हैं, लेकिन युवाओं में हृदयाघात के मामले सिर्फ अत्यधिक व्यायाम के कारण नहीं देखे गए हैं। कोविड से भी दिल का दौरा पड़ने के मामले बढ़े हैं।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news