Tuesday, December 20, 2022

छत्तीसगढ़ में आरक्षण के खिलाफ अब सामान्य वर्ग का प्रदर्शन , आंदोलन की दी चेतावनी

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ में आरक्षण को लेकर अब सामान्य वर्ग के लोगो ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अनुसूचित जाति का आरक्षण 16% से कम कर 13% करने को लेकर अब सामान्य वर्ग के लोग विरोध कर रहे हैं। रविवार की देर शाम युवाओं ने कैंडल मार्च निकालकर आरक्षण पर विरोध जाताया है। और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 50% आरक्षण लागू करने की मांग की। वहीं इस मांग को लेकर सामान्य वर्ग भी अब बड़े प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

दरअसल, शासन ने अनुसूचित जाति का आरक्षण 16% से कम कर 13% कर दिया है, जिसे लेकर भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा विरोध कर रहा है। वहीं, बहुजन समाज पार्टी ने भी आरक्षण का विरोध शुरू कर दिया है। पार्टी के पदाधिकारियों ने जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी का नारा दे रहे हैं,और इस मुद्दे को लेकर अब बड़े प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

बता दे की राज्य सरकार की ओर से विधानसभा में आरक्षण विधेयक लाकर 76% आरक्षण किया जा रहा है। जिसके कारण सामान्य वर्ग के लोगो में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है। इस सम्बन्ध सभी लोगो ने बैठक कर रविवार को बिलासपुर के कंपनी गार्डन से नेहरू चौक तक कैंडल मार्च निकालकर विरोध-प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि 76% आरक्षण की जगह सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 50% ही आरक्षण लागू किया जाए और मौजूदा आरक्षण व्यवस्था की समीक्षा की जाए।

सामान्य वर्ग के लोगों ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर बढ़ा हुआ आरक्षण लागू होता है तो प्रदेश स्तरीय आंदोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि आरक्षित वर्ग के कुछ विशेष वर्ग को सरकारी नियुक्ति में वर्चस्व बढ़ेगा, जो असंवैधानिक है। उन्होंने आगे कहा कि सामाजिक समरसता बनी रहे, सरकार को ऐसा निर्णय लेना चाहिए। विरोध-प्रदर्शन में अग्रवाल समाज, ब्राम्हण समाज, क्षत्रिय समाज, सिन्धी समाज, जैन समाज, मुस्लिम समाज, सिख समाज एवं अन्य सामान्य वर्ग के लोग मौजूद रहे।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news