Tuesday, November 29, 2022

भूपेश सरकार का सराहनीय कदम , धनवंतरी मेडिकल स्टोर्स बना मरीजों के लिए जीवनदान

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सार्थक पहल से छत्तीसगढ़ के गरीब जनता तक सुलभ स्वास्थ्य सेवाएं पहुंच रही है। स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार मुख्यमंत्री श्री बघेल की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। पिछले साल आज ही के दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़वासियों को सस्ते दामों पर अच्छी क्वालिटी की दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए धनवंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स पूरे प्रदेश में शुरू किए थे. इस योजना के तहत रायपुर जिले में 19 मेडिकल स्टोर्स खोले गए हैं. रायपुर जिले में पिछले एक साल में धनवंतरी मेडिकल स्टोर्स से दवाइयां खरीदने पर लोगों को लगभग साढ़े दस करोड़ रुपए की बचत हुई है.

पिछले एक साल में रायपुर जिले में इन मेडिकल स्टोर्स से चार लाख 71 हजार से अधिक मरीजों या उनके परिजनों ने सस्ते दामों पर दवाइयां खरीदी है. इन दवाइयों का वास्तविक अधिकतम खुरदुरा मूल्य लगभग 15 करोड़ रुपए है. सस्ते दामों पर अच्छी क्वालिटी की दवाइयां मरीजों को समय पर उपलब्ध होने से उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार होने के साथ-साथ महंगे ईलाज और दवाइयों से भी उन्हें राहत मिली है. इसीलिए योजना से लाभान्वित होने वाले लोगों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का धन्यवाद ज्ञापित कर आभार भी माना है.

रायपुर जिले में रायपुर नगर निगम क्षेत्र में 8 और बाकी 11 नगरीय निकायों में 1-1 धनवंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स संचालित है. इन स्टोर्स पर मरीजों को 54 प्रतिशत से लेकर 72 प्रतिशत तक की छूट पर अच्छी क्वॉलिटी की जेनेरिक दवाइयां मिल रही है. वास्तव में यह योजना बीमार लोगों के लिए संजीवनी के साथ-साथ धन बचत की भी योजना साबित हो रही है. सस्ते दामों पर दवाइयां मिलने से हुई बचत को लोग बीमारी के बाद पूरी तरह ठीक होने में भी खर्च कर पा रहें है. इसके साथ ही कई लोग अपने बच्चों की पढ़ाई, अन्य पारिवारिक-सामाजिक कामों में भी इस पैसे का उपयोग कर पा रहे हैं.

रायपुर शहर के तबरेज खान भी सुभाष स्टेडियम के पास वाले श्री धन्वंतरी मेडिकल स्टोर्स में दवा खरीदने के लिए पहुंचे हुए थे, उन्होंने बताया कि, वे हर महीने शुगर और ब्लड प्रेशर की दवाएं खरीदते हैं, जब से श्री धन्वंतरी मेडिकल स्टोर्स खुले हैं, बहुत सुविधा हो गई है, यहां पर अच्छे डिस्कांउट यहां तक कि आधे से भी कम कीमत पर दवाएं मिल जाती हैं, जिससे मुझे बहुत बचत हो रही है. उन्होंने कहा कि अब गरीब भी अच्छी कंपनी की महंगी दवाइयां छत्तीसगढ़ सरकार की इस योजना के कारण रियायती दरों पर खरीद पा रहें हैं. उन्हें अब इलाज में आसानी हो रही है. इस योजना के लिए सरकार की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है.

दवाओं का नाम नहीं बल्कि फार्मूला प्रमुख है

डगनियां निवासी महेश कुमार सोनी भी दवाएं खरीदने हेतु पुरानी बस्ती के श्री धन्वंतरी मेडिकल स्टोर आए हुए थे. उन्होंने कहा कि, श्री धन्वंतरी मेडिकल स्टोर में मिलने वाली दवाएं एक ओर जहां कम एम.आर.पी. की हैं, वहीं दूसरी ओर इन दवाओं में 72 प्रतिशत तक डिस्काउंट भी मिल रहा है. इन दवाओं को खरीदने में डबल फायदा हो रहा है. उन्होंने कहा कि, दवाओं का नाम नहीं, बल्कि दवाओं का फार्मूला देखना चाहिए, कम्पनी और नाम कोई भी हो, दवा में फार्मूला मुख्य होता है.

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news