Thursday, December 1, 2022

Chhath Puja 2022 : उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हुआ छठ महापर्व

Chhath Puja 2022 : चार दिन तक वाला छठ महापर्व का आज उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ ही संपन्न हो गया। देश के विभिन्न राज्य जैसे उत्तर प्रदेश , बिहार, पटना (Patna), झारखंड, दिल्ली, मुंबई समेत अन्य राज्यों से उगते सूरज को अर्घ्य देने की तस्वीरें सामने आ रही हैं।

आपको बता दें कि छठ पूजा की शुरुआत शुक्रवार यानी 28 अक्टूबर से हो गई थी। आज छठ पूजा का चौथा दिन यानी इसके समापन का दिन है।

क्यों उगते सूरज को अर्घ्य देकर किया जाता है समापन?

आपको बता दें कि छठ का पूजा आस्था का प्रतीक है। इसको लेकर ऐसी मान्यता है कि उगते सूर्य देव की पूजा करने से तेज, आरोग्यता और आत्मविशवास की प्राप्ति होती है। दरअसल, ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक सूर्य ग्रह को पिता, पूर्वज, सम्मान का कारक माना जाता है। इतना ही नहीं साथ ही छठी माता की अराधना से संतान और सुखी जीवन की प्राप्ति होती है। (Chhath Puja 2022)

नहाय खाय से समापन तक

गौरतलब है कि छठ पूजा की शुरुआत नहाय खाय की परंपरा से होती है। उसके बाद खरना का भी विशेष महत्व होता है। इस बार का खरना भी काफी शुभ समय पर पड़ा था। खरना के बाद संध्या अर्घ्य और चौथे दिन उषा अर्घ्य दिया जाता है। इससे ही छठ के पर्व का समापन होता है। इस पर्व की सबसे बड़ी विशेषता है कि यह पर्व पवित्रता का प्रतीक है। आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि 4 दिनों तक चलने वाले इस छठ पूजा में किसी पंडित की भी जरूरत नहीं पड़ती है। (Chhath Puja 2022)

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news