Friday, December 9, 2022

Bollywood & Hindi Movies News : थैंक गॉड’ और ‘आदिपुरुष’ ही नहीं, इन फिल्मों के खिलाफ भी लिया गया था लीगल एक्शन

नई दिल्ली: बॉलीवुड में हर साल सैंकडों फिल्में बनती हैं. फिल्में अलग-अलग विषयों पर होती हैं. कुछ को दर्शकों की स्वीकृति मिलती है तो कुछ बॉक्स ऑफिस पर सफल रहती हैं. कई बार फिल्म निर्माता अपनी रचनात्मक स्वतंत्रता का प्रयोग करते हुए ऐसी फिल्में बना देते हैं, जो कानूनी दिक्कतों से घिर जाती हैं. ‘थैंक गॉड’ (Thank God) और ‘आदिपुरुष’ (Adipurush) अपनी रिलीज का इंतजार कर रही हैं, पर उससे पहले ही इन फिल्मों पर लोगों की भावनाओं को आहत करने का आरोप लग गया है. हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब किसी फिल्म को रिलीज से पहले इस तरह की कानूनी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. यहां उन बॉलीवुड फिल्मों पर नजर डालते हैं, जिन्होंने विवादों को जन्म दिया था और जो रिलीज होने से पहले ही कानूनी पचड़े में फंस गई थीं.

थैंक गॉड: अजय देवगन की फिल्म ‘थैंक गॉड’ मुश्किलों से घिरी हुई है. एमपी के मंत्री ने फिल्म पर प्रतिबंध की मांग की थी, जिसके कुछ दिनों बाद कायस्थ समाज के प्रतिनिधियों ने राजस्थान में फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, समुदाय ने अजय देवगन, टी-सीरीज और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ हिंदू देवता चित्रगुप्त के कथित अभद्र चित्रण के लिए शिकायत दर्ज कराई थी. बता दें कि अजय देवगन और सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​के अलावा ‘थैंक गॉड’ में रकुल प्रीत सिंह भी हैं. फिल्म 25 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए तैयार है.

आदिपुरुष: ‘आदिपुरुष’ के लिए मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं. फिल्म के कई सदस्यों पर केस दर्ज हुए हैं. प्रभास और सैफ अली खान के साथ-साथ निर्देशक ओम राउत और दो अन्य लोग कानूनी पचड़े में फंस गए हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शिकायतकर्ता ने फिल्म के टीजर में ‘भगवान राम, सीता, हनुमान, रावण के अभद्र चित्रण का आरोप लगाया है. इसके बाद, जौनपुर के न्यायिक मजिस्ट्रेट आशुतोष सिंह ने शिकायत दर्ज कराई. अधिवक्ता राज गौरव द्वारा दायर याचिका में आरोप लगाया गया है कि ‘आदिपुरुष’ ने टीजर में हिंदू देवताओं को अनुचित और गलत तरीके से चित्रित किया है.

गंगूबाई काठियावाड़ी: संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म रिलीज से पहले ही कानूनी मुश्किलों से घिर गई थी. दक्षिण मुंबई के काठियावाड़ी इलाके के निवासी एक विधायक ने फिल्म में क्षेत्र के नाम का उपयोग करने पर विरोध किया था और इसके खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की थी.

पद्मावत: संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित ‘पद्मावत’ साल 2018 में रिलीज हुई थी, जिसने रिलीज से पहले और बाद में काफी विरोध झेला था. फिल्म के खिलाफ कानूनी कार्रवाई हुई थी. कई दलों ने दावा किया था कि फिल्म इतिहास को गलत तरीके से प्रस्तुत करती है और उनके राजा और रानी की प्रतिष्ठा को धूमिल करती है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, निर्देशक संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण को जान से मारने की धमकी मिली थी. फिल्म का नाम ‘पद्मावती’ से बदलकर ‘पद्मावत’ कर दिया गया था.

जॉली एलएलबी 2: ‘द स्टेट वर्सेज जॉली एलएलबी 2’ साल 2017 की ब्लैक कॉमेडी फिल्म है, जिसे सुभाष कपूर ने लिखा और निर्देशित किया था. यह ‘जॉली एलएलबी’ फ्रेंचाइजी की दूसरी किस्त है. फिल्म के टाइटल और भारतीय कानूनी व्यवस्था के चित्रण ने बहस को जन्म दिया था. एडवोकेट अजयकुमार वाघमारे के अनुसार, एलएलबी शब्द का इस्तेमाल करके भारतीय कानूनी प्रणाली का जानबूझकर अपमान किया गया, जिन्होंने इसे हटाने के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट में एक केस दायर किया था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बॉम्बे हाईकोर्ट ने फिल्म का कॉन्टेंट जांचने के लिए तीन सदस्यीय समिति नियुक्त की थी.

उड़ता पंजाब: अभिषेक चौबे की ‘उड़ता पंजाब’ में दिखाया गया है कि पंजाब में युवा नशीली दवाओं का दुरुपयोग कैसे करते हैं. इस फिल्म की रिलीज को लेकर विवाद सबसे लंबे समय तक रहा है. सीबीएफसी के शुरुआती झटके के साथ फिल्म में 13 कैटेगरी में बदलाव करने के लिए कहा गया था. फिर, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में दायर याचिकाओं में आरोप लगाया गया कि फिल्म पंजाब को नकारात्मक रूप से चित्रित करती है और नशीली दवाओं के उपयोग को बढ़ावा देती है. अदालतों ने आखिरकार फिल्म को लेकर फैसला सुनाया कि इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है.

ऐ दिल है मुश्किल: करण जौहर ने फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ का निर्देशन, निर्माण और लेखन किया था. फिल्म में रणबीर कपूर, अनुष्का शर्मा, ऐश्वर्या राय बच्चन और फवाद खान ने अभिनय किया था, जबकि इसमें शाहरुख खान, लिसा हेडन और इमरान अब्बास का कैमियो था. फिल्म में पाकिस्तानी एक्टर फवाद खान की कास्टिंग की वजह से इसकी रिलीज में देरी हुई. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जम्मू और कश्मीर में हुए आतंकवादी हमले के जवाब में देश भर में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे. विरोध के बाद, फिल्म से फवाद खान की भूमिका को काफी छोटा कर दिया गया था. करण जौहर ने इसके लिए माफी मांगी थी और इंडियन आर्मी वेलफेयर फाउंडेशन को डोनेशन दिया था.

गोलियों की रासलीला राम-लीला: संजय लीला भंसाली की ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’ की कहानी साल 1961 की फिल्म ‘वेस्ट साइड स्टोरी’ पर आधारित थी, जो एक दुखद प्रेम कहानी है. फिल्म में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण लीड रोल में हैं. फिल्म का नाम मूल रूप से ‘राम-लीला’ था, लेकिन कुछ धार्मिक समूहों द्वारा भगवान राम से संबंधित टाइटल होने पर आपत्ति जताई थी. याचिका दायर होने के बाद, फिल्म का नाम बदल दिया गया था.

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news