Sunday, December 4, 2022

CG -NEWS : तेंदुआ और भालू को लेकर जिला में अलर्ट, वन विभाग ने की ये अपील

रायपुर : कांकेर जिला मुख्यालय और आसपास के क्षेत्रों में वन्य प्राणी तेंदुआ, भालू के देखे जाने और भालुओं द्वारा इंसानों पर हमला की घटनाओं को दृष्टिगत रखते हुए वन विभाग द्वारा सावधानियां बरतने की अपील नागरिकों से की गई है। वन विभाग द्वारा जारी अपील में कहा गया है कि वन्य प्राणी तेंदुआ, भालू के दिखाई देने पर उन्हें घेरने अथवा मारने का प्रयास न किया जाये, बल्कि खुद को सुरक्षित कर लेवें एवं उनसे दूरी बना लें।

सुबह से शाम के वक्त अंधेरे में बाहर न निकलें। रात में घर से बाहर निकलना आवश्यक हो तो टार्च अथवा मसाल के साथ समूह में निकलें। शौच हेतु अंधेरे में बाहर न जायें, छोटे बच्चों तथा वृद्धजनों को अंधेरे में बाहर जाने न देवें। वन्य प्राणियों के समीप मदिरापान करके न जावे। घरों के आसपास के झाड़ियों को काटकर हटा देवें। खेत में फसल कटाई के दौरान यथासंभव समूहों में फसल की कटाई करें तथा वन क्षेत्रों में वनोपज एकत्र करने समूह में जायें। घरों में महुआ जैसे वस्तुओं को न रखें, इससे भालू, हाथी आकर्षित होते हैं। वन्य प्राणी भालू को खाने के लिए कुछ न देवें। भालू, तेंदुआ इत्यादि वन्य प्राणी के दिखने पर वीडियो बनाने एवं सेल्फी लेने की कोशिश न किया जाये। (Tendua Bhalu Hamla)

वन्य प्राणी तेंदुआ द्वारा पशु का शिकार किया हुआ देखे जाने पर तत्काल वन विभाग को सूचित किया जाये तथा तेंदुआ, भालू दिखाई देने पर गांव के कोटवार को सूचना देकर मुनादी कराई जावे। इसके अलावा वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को मोबाइल से जानकारी दिया जावे। इसके लिए वन विभाग के रेंजर, वनपाल एवं वनरक्षक के मोबाइल नंबर जारी किये गये हैं। वन परिक्षेत्र अधिकारी कांकेर संदीप कुमार सिंह का मोबाइल नंबर- +91-70676-12940 उप वनक्षेत्रपाल कांकेर को सूचना दी जा सकती है।

दीनदयाल निषाद का मोबाइल नंबर- +91-79745-27224, वनपाल विमल ठाकुर का मोबाइल नंबर +91-62634-15698, वनपाल तुलसा जुर्री का मोबाइल नंबर-+91-94062-85887, वनपाल अरूण नेताम का मोबाइल नंबर- +91-90090-04985, वनपाल चेलाराम ठाकुर का मोबाइल नंबर- +91-87708-07515, वनपाल ओमप्रकाश सलाम का मोबाइल नंबर- +91-74770-07750, वनपाल भिरेंद्र गोटी का मोबाइल नंबर-+91-70003-19374 और वनपाल मनोज साहू का मोबाइल नंबर-+91- 77479-88350 पर वन्यप्राणियों के गांव में घुसने और क्षति पहुंचाये जाने की सूचना दी जा सकती है।

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news