Wednesday, December 21, 2022

Delhi MCD रिजल्ट के बाद AAP में शामिल हुए थे 3 कांग्रेसी, अब माफी मांगकर की घर वापसी

नई दिल्‍ली : Delhi Municipal Corporation के नतीजे आने के बाद कांग्रेस नेताओं (congress leaders) के आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) में शामिल होने के चंद घंटे बाद रोचक उलटफेर हुआ. दरअसल, दिल्ली कांग्रेस के उपाध्यक्ष अली मेहदी (Ali Mehdi) के साथ ही बृजपुरी वार्ड से कांग्रेस पार्षद नाजिया खातून (Nazia Khatoon) और मुस्तफाबाद वार्ड से पार्षद सबिला बेगम (Sabila Begum) ने आम आदमी पार्टी जॉइन कर ली थी, लेकिन ये तीनों नेता दोबारा से कांग्रेस में शामिल हो गए हैं.

इस घटनाक्रम के कुछ घंटे बाद दिल्ली कांग्रेस के उपाध्यक्ष अली मेहदी ने माफी मांगी और कहा कि वह अपनी पुरानी पार्टी में शामिल हो गए हैं. साथ ही कहा कि मैं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का कार्यकर्ता हूं. वहीं मुस्तफाबाद से पार्षद सबिला बेगम और बृजपुरी से नाजिया खातून, जो उनके साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हुई थीं, वह फिर से कांग्रेस में शामिल हो गई हैं.

कांग्रेस में वापस जाने की मेहदी की घोषणा मुस्तफाबाद में विरोध प्रदर्शन के बाद हुई है. क्योंकि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनके इस फैसले का कड़ा विरोध किया था. हालांकि मेहदी के दोबारा कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा के बाद पार्टी के कई नेता उनकी प्रशंसा कर रहे हैं.

दिल्ली नगर निगम के चुनाव में AAP ने 250 में से 134 सीटों पर जीत हासिल की है. जबकि बीजेपी को 104 वार्डों में जीत मिली है. कांग्रेस ने 9 सीटें जीती थीं. तीन सीट पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने कब्जा जमाया है. वहीं, कांग्रेस के 2 पार्षद कांग्रेस का हाथ छोड़कर आम आदमी के पार्टी के साथ चले गए थे, इसके बाद कांग्रेस के पार्षदों की संख्या घटकर 7 रह गई थी, लेकिन बागी नेताओं ने थोड़ी देर बाद फिर से कांग्रेस में वापसी कर ली.

बृजपुरी वार्ड से नाजिया खातून को 9639 वोट मिले थे. उन्होंने आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार अरफीन नाज को हराया था. अरफीन को 7521 वोट मिले थे. नाजिया ने 2118 वोटों से पार्षद का चुनाव जीता था. वहीं, मुस्तफाबाद वार्ड से कांग्रेस की सबिला बेगम ने चुनाव जीता था. उन्होंने ओवैसी की पार्टी AIMIM की उम्मीदवार सरबरी बेगम को हराया था. सबिला बेगम को 14921 वोट मिले थे. जबकि सरबरी ने 8339 वोट हासिल किए थे. सबिला बेगम ने ये चुनाव 6582 वोटों से जीता था.

15 साल से MCD में काबिज बीजेपी ने सत्ता गंवा दी है. तीन बार से दिल्ली विधानसभा में जीत रही आप पहली बार एमसीडी में जीत हासिल करने में सफल हुई है. MCD की 250 सीटों पर 4 दिसंबर को मतदान हुआ था. इन चुनाव में 250 वार्ड में कुल 1349 उम्मीदवार मैदान में थे. इनमें से 382 प्रत्याशी निर्दलीय थे. बीजेपी और AAP ने सभी 250 सीटों पर अपने-अपने कैंडिडेट्स उतारे थे, जबकि कांग्रेस ने 247 उम्मीदवार ही चुनावी मैदान में उतारे थे.

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news