Tuesday, November 29, 2022

Shraddha Murder Case : फ्रिज में श्रद्धा बॉडी और कमरे के अंदर दूसरी लड़की के साथ आफताब, खौफनाक श्रद्धा मर्डर केस की पूरी कहानी

Shraddha Murder Case: दिल्ली के महरौली इलाके में एक वीभत्स घटना में एक व्यक्ति ने अपनी लिव-इन पार्टनर की गला घोंटकर कथित रूप से हत्या कर दी. उसके बाद शव के करीब 35 टुकड़े कर उन्हें लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर की क्षमता वाले फ्रिज में रखा और एक के बाद एक कर उन्हें राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न हिस्सों में फेंक दिया. इस घटना ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया है. इस केस में नए-नए खुलासे हो रहे हैं. चलिए आपको खौफनाक श्रद्धा मर्डर केस की पूरी कहानी बताते हैं.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आफताब अमीन पूनावाला की गिरफ्तारी के बाद यह नृशंसा घटना छह माह बाद सामने आई. उनके अनुसार महिला के शव के कटे हुए कुछ हिस्से मिले हैं और पुलिस हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार तलाश रही है. विश्वासघात और छल की इस दुखद घटना में आरोपी आफताब अपराध करने के छह महीने तक बचता रहा. पूछताछ में उसने बताया कि हत्या को अंजाम देने के बाद वह उसी घर में रह रहा था, जहां वे दोनों साथ रहते थे. उससे पूछताछ में हत्या का ब्योरा सामने आने के बाद शनिवार की सुबह उसे गिरफ्तार किया गया.

क्यों की हत्या?

आफताब पूनावाला ने जांच के दौरान पुलिस को बताया कि शादी को लेकर हुए झगड़े के बाद उसने श्रद्धा वाकर की हत्या की और उसके शरीर को टुकड़ों में काटने का विचार उसे एक अमेरिकी टेलीविजन सीरीज ‘डेक्सटर’ से आया. आरोपी ने शव के कटे हुए हिस्सों को रखने के लिए 300 लीटर वाला एक फ्रिज खरीदा और शव से आने वाली बदबू को दबाने के लिए अगरबत्तियों एवं रूम फ्रेशनर का उपयोग किया. जांच में यह भी सामने आया कि आफताफ रात के समय शरीर के टुकड़ों को फेंकने के लिए निकलता था. वो इस बात का ध्यान भी रखता था कि शरीर का कौन सा हिस्सा जल्द से जल्द सड़ना शुरू हो जाता है और उसने उसी को देखते हुए शरीर के हिस्सों को फेंकना शुरू किया. (Shraddha Murder Case)

फ्रिज में थे शरीर के टुकड़े और घर में एक और महिला को किया डेट

इंडियन एक्सप्रेस पर छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, आफताब ने जिस समय श्रद्धा के टुकड़ों को फ्रिज में रखा हुआ था, वह उस समय अपने महरौली वाले किराए के फ्लैट में एक महिला डेट के लिए भी लाया था. सूत्रों ने बताया कि आफताब कथित तौर पर दूसरी महिला, एक मनोवैज्ञानिक के संपर्क में उसी डेटिंग ऐप से आया जिसके माध्यम से उसकी श्रद्धा वाकर से 2019 में मुलाकात हुई थी.

सूत्रों ने बताया कि दूसरी महिला जून-जुलाई में एक-दो बार उसके घर आई. उस समय आफताफ ने वाकर के शरीर के अंगों को फ्रिज और किचन में छिपा दिया था. जांच में सामने आया कि 18 मई को श्रद्धा वाकर की हत्या के बाद, पूनावाला ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट में लॉग इन किया और अपने दोस्तों को यह संदेश दिया कि वह अभी भी जीवित है. उन्होंने उसके क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान भी किया, ताकि कंपनियां उसके मुंबई के पते पर संपर्क न करे.

सोशल मीडिया पर की दोस्तों से बात

हत्या के बाद के अगले कुछ हफ्तों तक, आफताब ने कथित तौर पर महिला के दोस्तों के साथ उसके सोशल मीडिया अकाउंट का उपयोग करके बातचीत की ताकि कोई संदेह पैदा न हो. श्रद्धा वाकर अपने परिवार से बात नहीं कर रही थी, क्योंकि उन्होंने उनके रिश्ते पर आपत्ति जताई थी. पीड़िता के पिता ने मुंबई में सितंबर में शिकायत दर्ज कराई जब उसके दोस्तों में से एक ने उन्हें बताया कि वाकर के फोन पर पिछले दो महीने से संपर्क नहीं हो पा रहा है और पूनावाला ने दावा किया वे कुछ समय पहले अलग हो गए थे.

पिता ने की शिकायत, फिर दिल्ली में हुई आफताब की गिरफ्तारी

शिकायत मिलने के बाद, मुंबई पुलिस ने दिल्ली में उसके अंतिम स्थान का पता लगाया और आफताब को भी बुलाया, जिनके विरोधाभासी बयानों ने संदेह पैदा किया. मुंबई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “मुंबई पुलिस ने आफताब और श्रद्धा का कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) निकाला और पाया कि उसका मोबाइल मई से बंद था. फिर हमने आफताब को बुलाया और उससे पूछताछ की और उसका बयान भी दर्ज किया गया.” आठ नवंबर को मुंबई पुलिस ने महरौली थाने में श्रद्धा के लापता होने की सूचना दी थी. जांच के दौरान आफताब के आवास पर छापेमारी की गई और उसे हिरासत में ले लिया गया. पुलिस के अनुसार आरोपी को पांच दिनों के लिए हिरासत में लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है. (Shraddha Murder Case)

आप की राय

क्या सड़क हादसों को रोकने के लिए नियम और सख्त किए जाने चाहिए?
×
Latest news
Related news