Monday, February 26, 2024

दुर्ग जिले में खनिज विभाग की अनदेखी से मुरूम माफियाओ की मौज

Durg : ग्राम अंडा में मुरूम खनन का अवैध कारोबार जमकर फल फूल रहा है। अवैध मुरूम को सरकारी निर्माण एवं निजी कार्यों में खपाया पाया जा रहा है। हाइवा में गौरी ट्रेडर्स लिखा हुआ है लेकिन ड्राइवर किसके कहने पर खनन कर रहा है, यह बताने से भी इंकार कर रहा है। तो वही नई नवेली गाड़ी भी बिना नाम के ट्रांसपोर्ट में लगी हुई है। इसकी जानकारी खनिज विभाग के मातहत को होने के बाद भी कार्यवाही नहीं किया जा रहा है। दुर्ग ग्रामीण में कुछ माफिया मुरूम, मिट्टी के बेजा दोहन में लगे हुए हैं।दुर्ग ग्रामीण के सभी क्षेत्रों में दलालों के मदद से छोटे-छोटे किसानों को पैसे का लालच देकर उनकी जमीन को समतल करने के बहाने मुरूम निकाल रहे है। इसकी न कोई परमिशन है, न कोई रायल्टी सरकार के खाते में जा रही है। खनिज विभाग के अधिकारी कार्यवाही करने के बजाय हाथ में हाथ धरे बैठे है। दुर्ग जिले के अंडा परिक्षेत्र में जहां सुबह से मुरूम खनन शुरू हो जाता है,जो देर रात तक चलते रहता है।
दुर्ग ग्रामीण के अधिकतम ग्रामो में सड़क निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है। वही खनिज माफियाओं द्वारा खेतो को बेतरतीब ढंग से खोदकर बर्बाद किया जा रहा है।पंचायतों एवं क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि की सांठगांठ के चलते पंचायत के रजिस्टर में प्रस्ताव बनाकर बिना खनिज विभाग की अनुमति लिए धड़ल्ले से मुरूम निकाला जा रहा है। गांव में जेसीबी और हाइवा से मुरूम का अवैध उत्खनन कर परिवहन किया जा रहा है।
अछोटी और चिंगरी सड़क निर्माण में मुरूम चोरी

अछोटी और चिंगरी में सड़क चौड़ीकरण के अंतिम चरण में होने पर भी अवैध मुरूम खपाने का काम जोर शोर से चल रहा है। जानकारी के मुताबिक सड़क निर्माण एजेंसी बाफना कंस्ट्रक्शन शुरुआत से ही इसी तरीके से लगातार अवैध मिट्टी मुरूम ही लगातार खपाते आया है।
खनिज विभाग खाना पूर्ति कर छोटी-मोटी कार्रवाई करती रही है लेकिन सड़क निर्माण एजेंसी का हौसला बुलंद है। दुर्ग बालोद सीमा पर अंडा के समीप जमकर अवैध मुरम खनन लगातार जारी है। शासन को लाखों रुपए की राजस्व की हानि इस सड़क निर्माण से हो गया है मुरूम माफिया किसानों के खेतों को खाइयो में तब्दील कर रहे हैं।

आप की राय

[yop_poll id="1"]

Latest news
Related news