Thursday, July 25, 2024

रेल सुविधाओं की बहाली के लिये कांग्रेस 13 को करेगी रेल रोको आंदोलन

यात्री ट्रेनें रद्द किए जाने के खिलाफ कांग्रेस ने खोला मोर्चा, छत्‍तीसगढ़ में रेल रोकने का किया ऐलान,  राज्‍य के अलग-अलग इलाकों में ट्रेनें रोक कर दर्ज कराएंगे विरोध

रायपुर। यात्री ट्रेनों को बार-बार रद्द किए जाने के कारण छत्‍तीसगढ़ के रेल यात्री परेशान हैं। कांग्रेस ने अब इसके खिलाफ मोर्चा खोलने का ऐलान कर दिया है। पार्टी के प्रदेश मुख्‍यालय राजीव भवन में आज पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की सरकार देश की सबसे विश्वसनीय यात्री सेवा रेलवे सुविधा को समाप्त करने का साजिश रच रही है। वर्षों से भारतीय रेलवे आम जनता का भरोसेमंद, सस्ता और सुलभ परिवहन का पर्याय हुआ करता था जिसे मोदी राज में रेलवे की विश्वसनीयता को खत्म करके निजी हाथों में बेचने का षड़यंत्र रचा जा रहा है।

बिना कोई कारण बताये, बिना किसी ठोस वजह के यात्री ट्रेनों को अचानक रद्द कर दिया जाता है। रेलवे द्वारा यात्री ट्रेनों को महीनों, हफ्तों तक बंद करने का फरमान जारी कर दिया जाता है। महीनों पहले यात्रा की योजना बना कर रिजर्वेशन कराने वाले नागरिकों की परेशानी से रेलवे को और केंद्र सरकार कोई मतलब नहीं रहता है। रेलवे यात्रियों के लिये कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं करती है। देश की आजादी के बाद ऐसी स्थिति केवल मोदी सरकार में आई है। जहां रेलवे की यात्री सुविधाएं इतनी ज्यादा खस्ताहाल हो गयी है।

बीते साढ़े तीन साल में 67382 ट्रेनों को किया गया रद्द

कांग्रेस पार्टी ने प्रेसवार्ता में बताया कि आरटीआई से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते साढ़े तीन साल में 67382 ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया। वर्षवार निरस्त हुई ट्रेनों की पूरी जानकारी इस प्रकार है :

वर्ष 2020 में 32757 ट्रेनें निरस्त की गई
वर्ष 2021 में 32151 ट्रेनें निरस्त की गई
वर्ष 2022 में 2474 ट्रेनें निरस्त की गई
वर्ष 2023 में (अप्रैल माह तक) 208 ट्रेनें निरस्त की
वर्तमान में 24 ट्रेनें अगस्त 2023 के अंतिम तक रद्द की गयी है।

रेलवे सुविधाओं की बहाली और रेल को बंद करने की केंद्र सरकार की कथित साजिश के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने आंदोलन चलाने का निर्णय लिया है, जिसके तहत 9 से 13 सितंबर को चरणबद्ध विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे-

9 सितंबर को प्रदेश के समस्त जिला मुख्यालयों में पत्रकारवार्ता के बाद ज्ञापन सौंपा जायेगा।
10, 11 एवं 12 सितंबर को पाम्पलेट-पोस्टर वितरण एवं चस्पा कार्यक्रम, यदि केंद्र सरकार नहीं मानी तो 13 सितंबर को प्रदेश के समस्त रेलवे स्टेशनों पर रेल रोको आंदोलन किया जायेगा।
पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर, घनश्याम राजू तिवारी, सुरेन्द्र वर्मा, अजय गंगवानी, प्रकाश मणी वैष्णव, अजय साहू, शशि भगत, ऋषभ चंद्राकर उपस्थित थे।

आप की राय

[yop_poll id="1"]

Latest news
Related news